Whatsapp की नई पॉलिसी के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर- कोर्ट से मांग, नई प्राइवेट पॉलिसी पर तुरंत रोक लगाई जाए

मैसेजिंग एप्प whatsapp की नई पाॅलिसी अब अदालत तक पहुंच गई है। दरअसल, whatsapp की नई पॉलिसी को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है कि whatsapp की नई पॉलिसी के तहत कंपनी को यह अधिकार है

मैसेजिंग एप्प whatsapp की नई पाॅलिसी अब अदालत तक पहुंच गई है। दरअसल, whatsapp की नई पॉलिसी को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है कि whatsapp की नई पॉलिसी के तहत कंपनी को यह अधिकार है कि वह किसी भी व्यक्ति की वर्चुअल तौर पर कोई भी गतिविधि देख सके। याचिका में कोर्ट से मांग की गई है कि नई प्राइवेट पॉलिसी पर फौरन रोक लगाई जाए।

कोर्ट में दाखिल याचिका में यह भी कहा गया है कि यह किसी भी व्यक्ति के राइट टू प्राइवेसी के अधिकार का उल्लंघन है. बतां दें कि  यह याचिका वकील चैतन्या रोहिल्ला की तरफ से लगाई गई है जिसमें कहा गया है कि whatsapp  और फेसबुक जैसी कंपनियां पहले ही गैरकानूनी तरीके से आम लोगों का डाटा थर्ड पार्टी को शेयर कर रही हैं।  ऐसे में वॉट्सएप की नई प्राइवेट पॉलिसी बिना सरकार से इजाजत लिए बनाई गई है।

इस याचिका में कोर्ट से मांग की गई है whatsapp  की नई प्राइवेट पॉलिसी पर तुरंत प्रभाव से रोक लगाई जाए और उसके साथ भारत सरकार whatsapp के इस्तेमाल और लोगों की राइट टू प्राइवेसी को ध्यान में रखते हुए गाइडलाइंस जारी करें। याचिका में कहा गया है कि भारत सरकार इंफॉरमेशन टेक्नोलॉजी एक्ट के सेक्शन 79(2) (C)और सेक्शन 87 (2) (ZG) के तहत मिली मिली शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए ये सुनिश्चित करें कि वॉट्सएप किसी भी थर्ड पार्टी को यूजर्स का डाटा साझा नहीं कर पाए।

गौरतलब है कि whatsapp ने 4 जनवरी को अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव किया था इस बदलाव के बाद वॉट्सएप को इस्तेमाल करने वाले यूजर्स के लिए इसके सभी नियमों को एक्सेपट करना जरूरी है. नहीं तो आपका अकाउंट डीलीट हो जाएगा। वहीं भी यूजर नियम और शर्तों को स्वीकार नहीं करेगा, उसका अकाउंट 8 फरवरी के बाद बंद कर दिया जाएगा.

नई पाॅलीसी पर whatsapp ने दी सफाई

उधर, whatsapp  ने नई पॉलिसी को अपनी सफाई में कहा कि आपके सेंसिटिव डेटा फेसबुक के साथ शेयर नहीं होते. साथ ही नई पॉलिसी अपडेट किसी भी तरह से दोस्तों या परिवार के साथ आपके मैसेजेस की प्राइवेसी को प्रभावित नहीं करता है

मैसेज एंड कॉल को लेकर वॉट्सएप ने बताया कि कंपनी ना आपके मैसेज पढ़ सकती है और ना आपके कॉल्स सुन सकती है और ना ही फेसबुक ये चीजें कर सकता है. वॉट्सएप एंड-टू-एंड एनक्रिप्टेड है और ये आगे भी ऐसा ही रहेगा. कंपनी का दावा है कि हम मैसेज और कॉलिंग का लॉग भी नहीं रखते हैं. यानी लोग जिन्हें भी कॉल या मैसेज करते हैं इसका डेटा वॉट्सएप नहीं रखता है.

बिजनेस अकाउंट को लेकर वॉट्सएप की नई पॉलिसी के तहत अगर आप वॉट्सएप बिजनेस यूज नहीं करते, लेकिन किसी प्रोडक्ट की खरीदारी के लिए किसी मर्चेंट के वॉट्सएप बिजनेस अकाउंट पर मैसेज करते हैं तो भी आपके ऊपर वॉट्सएप की नजर है

Get the latest update about delhi high court, check out more about whasapp new policy, truescoop hindi, truescoop news & whastapp

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.