इन तस्वीरों में देखिए, कैसे ग्लेशियर फटने से आए जल प्रलय के बाद 15 हेक्टेयर में फैला जंगल मिनटों में हुआ साफ

उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर फटने से आई आपदा अब तक 202 लोग लापता हुए थे। इनमें 20 से 25 लोगों को निकाला जा चुका है, जबकि बाकियों को निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर फटने से आई आपदा  अब तक 202 लोग लापता हुए थे। इनमें 20 से 25 लोगों को निकाला जा चुका है, जबकि बाकियों को निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। सैलाब इतना भयावह था कि ऋषिगंगा नदी किनारे करीब 15 हेक्टेयर के इलाके में फैला मरिंडा जंगल चंद मिनटों में ही साफ हो गया। उत्तराखंड पुलिस ने यह जानकारी दी।

ये नजारा ऋषिगंगा नदी के किनारे का है। यहां सैलाब के चलते पास का जंगल भी साफ हो गया है। NDRF और ITBP के जवान यहां क्रेन की मदद से मलबे को हटाकर लापता लोगों को ढूंढ रहे हैं।

वहीं, ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट, तपोवन का NTPC हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट, चीन सीमा तक पहुंचाने वाला BRO का ब्रिज, तीन से चार झूला ब्रिज, कई मंदिर और घर महज आधे घंटे में ही तबाह हो गए। 

तपोवन स्थित NTPC पावर प्रोजेक्ट के पास मलबे को हटाने में जुटे जवान।

उधर, सोमवार सुबह से ही बहादुर जवान रेस्क्यू कार्यों में जुटे हुए हैं। नदी में बाढ़ आने की वजह से सुरंग में पानी भर गया था। पानी निकासी के बाद सुरंग के अंदर चारों ओर मलबा व गाद भरा हुआ है। करीब 180 मीटर लंबी सुरंग में राहत कार्यों में जुटे जवानों को फंसे श्रमिकों को बचाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। 

सैलाब के कारण तपोवन में NTPC पावर प्रोजेक्ट के पास बना डैम पूरी तरह से टूट गया।

बता दें कि सुरंग के अंदर अभी भी 35 के करीब श्रमिक फंसे हुए हैं। जवानों द्वारा जेसीबी और अन्य अत्याधुनिक मशीनों के सहारे रेस्क्यू कार्य किया जा रहा है। दिनभर भी कड़ी मेहनत के बाद जवान आखिरकार सुरंग के अंदर दाखिल हो गए हैं। सूत्रों की मानें तो रेस्क्यू कार्य देररात तक जारी रहेगा ताकि टनल के अंदर फंसे श्रमिकों की जान बचाई जा सके।  

सैलाब ने धौलीगंगा किनारे का मंदिर भी तोड़ दिया। अब यहां केवल मलबा ही बचा हुआ है।

राहत-बचाव कार्य में जुटी SDRF और NDRF की टीम। यहां टनल में अभी भी 100 से ज्यादा लोग फंसे हैं।

मलबा हटाने में जुटे ITBP के जवान।

मलबे के अंदर फंसे लोगों को रस्सी की मदद से निकाला जा रहा है। अब तक 16 लोग जिंदा बचाए जा चुके हैं।


टनल के अंदर मलबा जमा हुआ है। इसे हटाने के लिए 200 जवान लगाए गए हैं।


Get the latest update about uttarakhand glacier burst, check out more about uttrakhand, Truescoop news, Truescoop Hindi & chamoli

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.