सिंघु बॉर्डर पर धरना दे रहे किसानों के बीच पकड़ा गया संदिग्ध युवक, बोला- '26 जनवरी के दिन चार किसान नेताओं की हत्या के उद्देश्य से आया हुं'

जहां एक तरफ किसान 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली निकालने पर अड़े हुए हैं तो वहीं दूसरी तरफ सरकार भी कृषि कानूनों को वापस लेने से साफ इनकार कर दिया है। वहीं इसी बीच एक और बड़ी खबर सामने आई है।

जहां एक तरफ किसान 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली निकालने पर अड़े हुए हैं तो वहीं दूसरी तरफ सरकार भी  कृषि कानूनों को वापस लेने से साफ इनकार कर दिया है। वहीं इसी बीच एक और बड़ी खबर सामने आई है। दिल्ली बॉर्डर पर धरना दे रहे किसानों ने एक संदिग्ध युवक को पकड़ लिया। इस संदिग्ध युवक ने कबूल किया कि वह 26 जनवरी के दिन चार किसान नेताओं की हत्या करने के उद्देश्य से आया है।

इस युवक का नाम योगेश है जो हरियाणा के सोनीपत जिले का रहने वाला बताया जा रहा है. योगेश ने बयान दिया कि किसान नेताओं की हत्या करने का निर्देश उसे सोनीपत के राई थाने के SHO प्रदीप ने दिए थे, लेकिन जब एख न्यूज चैनल द्वारा इस बात की जांच की गई तो पता चला कि राई थाने पर प्रदीप नाम से कोई शख्स ही नहीं है, राई थाने के SHO का नाम भी विवेक मलिक है, जो पिछले 7 महीने से यहां तैनात हैं।

राई थाने के SHO विवेक मालिक ने एक न्यूज चैनल से कहा कि मैं खुद प्रेस कांफ्रेंस लाइव सुन रहा था. लड़का बोल रहा है SHO राई ने प्लान बनाया, जबकि एक किसान नेता पीसी में लड़के की बात काट रहे हैं और कह रहे हैं कि हमें नहीं मालूम कि कौन SHO है।

SHO राई ने कहा कि मैं प्रेस कांफ्रेंस पर इसलिए नजर रखता हूं क्योंकि हमारे यहां भी किसान धरने पर बैठे हैं, मेरा इलाका भी अफेक्टेड है. मेरे थाने में, मेरे स्टाफ में प्रदीप नाम का कोई भी व्यक्ति नहीं है।

SHO विवेक मलिक ने  कहा कि मैं पुलिसिंग का ही काम करता हूं और कोई काम नहीं करता और इस तरह के घटिया काम करता नहीं। 

Get the latest update about singhu border, check out more about farmer protest, truescoop news, truescoop hindi & suspect singhu border

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.