सिराज ने बताया आखिर, राष्ट्रगान के दौरान क्यों रोक नहीं पाए अपने आंसू, वीडियों सोशल मीडिया पर हुआ था वायरल

भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने मैच से पहले कैमरे में कैद हुए उस भावुक क्षण के बारे में भी बताया कि जब वह अपने आंसू नहीं रोक पाए थे। 26 साल के सिराज ने कहा कि जब मैच शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजा तो सिराज की आंखें भीग गईंं जो अपने पिता के बारे में सोच रहे थे, जिनका नवंबर में निधन हो गया था।

भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने मैच से पहले कैमरे में कैद हुए उस भावुक क्षण के बारे में भी बताया कि जब वह अपने आंसू नहीं रोक पाए थे। 26 साल के सिराज ने कहा कि जब मैच शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजा तो सिराज की आंखें भीग गईंं जो अपने पिता के बारे में सोच रहे थे, जिनका नवंबर में निधन हो गया था।

इस तेज गेंदबाज ने भारत के लिए खेलने के सपने को पूरा करने के लिए तब ऑस्ट्रेलिया में ही रुकने का फैसला किया था। गुरुवार को कैमरे में कैद हुए इस भावुक क्षण के बारे में पूछने पर सिराज ने कहा कि उस समय पिता की याद आ गई।  मैं बहुत भावुक था। वह मुझे टेस्ट क्रिकेट खेलते हुए देखना चाहते थे। उन्होंने कहा कि काश वह मुझे भारत के लिए खेलते हुए देख पाते।

सिराज को साथी तेज गेंदबाज नवदीप सैनी से भी बात करते हुए देखा गया, जो यहां डेब्यू कर रहे हैं और उन्होंने क्रीज पर डटे हुए पुकोवस्की का विकेट भी चटकाया. सिराज ने कहा कि सैनी और मैंने साथ मिलकर भारत-ए के लिए काफी मैच खेले हैं, इसलिए हम एक-दूसरे को अच्छी तरह जानते हैं. मैं उसे सिर्फ इतना बता रहा था कि वही करे, जो हम घरेलू क्रिकेट और भारत-ए के लिए खेलते हुए करते थे।

ऋषभ पंत के दो बार पुकोवस्की का कैच छोड़े जाने के बारे में पूछने पर कि क्या इससे गेंदबाजों का मनोबल प्रभावित होता है, तो सिराज ने कहा कि यह खेल का हिस्सा है और जब ऐसा होता है तो बतौर गेंदबाज आप इससे निराश होते हो। लेकिन इसके बारे में हम कुछ नहीं कर सकते. इसलिए अगले ओवर पर ध्यान लगाना ज्यादा महत्वपूर्ण होता है।

Get the latest update about australia, check out more about Truescoop Hindi, Sports, Mohammad siraj & Truescoop News

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.