केजरीवाल ने किया ऐलान- एक बार अयोध्या में भव्य राम मंदिर बन जाए, तो हम बुजुर्गों को फ्री में दर्शन करवाएंगे

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्लीवासियों को एक और बड़ी सौगात दी। बुधवार को दिल्ली विधानसभा में पेश किए गए बजट सत्र के तीसरे दिन उपराज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलते हुए सीएम केजरीवाल ने रामराज का जिक्र किया।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्लीवासियों को एक और बड़ी सौगात दी। बुधवार को दिल्ली विधानसभा में पेश किए गए बजट सत्र के तीसरे दिन उपराज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलते हुए सीएम केजरीवाल ने रामराज का जिक्र किया। 

इस दौरान सीएम केजरीवाल ने कहा कि प्रभु श्रीराम हम सभी के आराध्य हैं. मैं व्यक्तिगत तौर पर हनुमान जी का भक्त हूं। हनुमान जी, रामचंद्र जी के भक्त हैं तो उस नाते मैं हनुमान जी और श्री रामचंद्र जी दोनों का भक्त हूं. प्रभु श्रीराम जी अयोध्या के राजा थे. कहते हैं कि उनके शासनकाल में सब कुछ बहुत अच्छा था. सब लोग सुखी थे, किसी को किसी प्रकार का दुख नहीं था, हर तरह की सुविधा थी, उसे रामराज्य कहा गया।

सीएम ने कहा कि प्रभु श्रीराम से प्रेरणा लेकर उनके रामराज्य की अवधारणा को दिल्ली के अंदर पूरी साफ सुथरी नियत से लागू करने के लिए पिछले 6 साल से हम लोग प्रयासरत हैं. हमारा 9वां सिद्धांत बुजुर्गों को सम्मान देना है, जो समाज अपने बुजुर्गों को सम्मान नहीं देता है, उस समाज का अंत निश्चित है, वह समाज आगे नहीं बढ़ सकता. हमने अपने बुजुर्गों को सम्मान देने के लिए तरह-तरह के कदम उठाए. इसमें सबसे अहम कदम उठाया है कि हम अपने बुजुर्गों को तीर्थ यात्रा कराकर ला रहे हैं।

सीएम ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अयोध्या के अंदर एक भव्य मंदिर बन रहा है. मैं अपने दिल्ली के सारे बुजुर्गों से कहना चाहता हूं कि एक बार यह मंदिर बन जाए, तो हम आपको फ्री में अयोध्या मंदिर का दर्शन करवाएंगे।

बता दें कि केजरीवाल सरकार ने जुलाई 2019 में मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत स्वर्ण मंदिर-वाघा बॉर्डर-आनंदपुर साहिब कॉरिडोर की पहली ट्रेन को हरी झंडी दिखाई थी। 'मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना' को लेकर दिल्ली सरकार का दावा है कि वह सभी यात्रियों का पूरा खर्च वहन करती है।

इस योजना के तहत यात्रियों के लिए वातानुकूलित ट्रेन यात्रा, आवास, भोजन, बोर्डिंग, ठहरने और अन्य व्यवस्थाएं शामिल हैं. इसके अलावा हर बुजुर्ग यात्री के साथ 21 साल से ज्यादा की उम्र का एक अटेंडेंट जा सकता है।

आपकों बतां दें कि इस योजना में पहली दिल्ली-मथुरा-वृंदावन-आगरा-फतेहपुर सीकरी, दूसरी दिल्ली-हरिद्वार-ऋषिकेश-नीलकंठ, तीसरी दिल्ली-अजमेर-पुष्कर, चौथी दिल्ली-अमृतसर-वाघा बॉर्डर-आनंदपुर साहिब, पांचवीं दिल्ली-वैष्णो देवी-जम्मू, छठवीं तिरुपति बालाजी, 7वीं रामेश्वरम, आठवीं शिरडी, 9वीं जगन्नाथपुरी, 10वीं द्वारकाधीश, 11वीं उज्जैन और 12वीं बोध गया की यात्रा शामिल है।

Get the latest update about Ayodhya, check out more about Delhi budget session, Delhi, hanuman mandir & Arvind Kejriwal

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.