मिशन बंगाल से पहले असम में पीएम मोदी ने 1.6 लाख भूमि पट्टा वितरण अभियान की शुरुआत कर लोगों की दी बड़ी सौगात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने और ममता बनर्जी आज कोलकाता में एक मंच पर आमने सामने दिखाई देंगे। दरअसल, कोलकाता में सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के लिए केंद्र सरकार ने ममता बनर्जी को न्यौता दिया था, जिससे बंगाल की सीएम ने स्वीकार कर लिया है.

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने और ममता बनर्जी आज कोलकाता में एक मंच पर आमने सामने दिखाई देंगे। दरअसल, कोलकाता में सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के लिए केंद्र सरकार ने ममता बनर्जी को न्यौता दिया था, जिससे बंगाल की सीएम ने स्वीकार कर लिया है. वहीं इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी असम के शिवसागर जिले में पहुंचे जहां उन्होंने 1 लाख 6 हजार असम के भूमिहीन लोगों को जमीनों का पट्टा दिया. इस मौके पर पीएम ने वहां एक जनसभा को संबोधित किया और कहा कि धरती हमारी माता के समान हैं. पीएम मोदी ने कहा कि पिछली सरकारों ने भूमिहीनों को जमीन देने में कोई रूचि नहीं दिखाई थी, लेकिन इस सरकार में सवा दो लाख परिवार को जमीन के पट्टे दिए गए अब एक लाख परिवार इसमें और जुड़ गए। 

वहीं, पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि असम में पौने दो करोड़ लोगों के जन धन खाते मिले हैं. इन लोगों को कोरोना काल में सीधे पैसे दिए गए. उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के लिए असम और पूर्वोत्तर का तेजी से विकास जरूरी है. पीएम ने कहा कि केंद्र और राज्य का डबल इंजन पिछले 4 वर्षों में असम के घर हल में पानी पहुंचाने की कोशिश कर रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि आज असम की करीब 35 लाख गरीब बहनों की रसोई में उज्जवला का गैस कनेक्शन है. इसमें भी लगभग 4 लाख परिवार SC/ST वर्ग के हैं. 2014 में जब हमारी सरकार केंद्र में बनी तब असम में LPG कवरेज सिर्फ 40 प्रतिशत ही थी. अब उज्जवला की वजह से असम में LPG कवरेज बढ़कर करीब-करीब 99% हो गई है. 

आसाम में चाय जनजाति का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज चाय जनजाति के घरों को शौचालय जैसी मूल सुविधाओं से जोड़ा जा रहा है. चाय जनजाति के अनेक परिवारों को भी ज़मीन का कानूनी अधिकार मिला है. चाय जनजाति के बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य और रोज़गार की सुविधाओं पर ध्यान दिया जा रहा है. पहली बार उनको बैंक की सुविधाओं से जोड़ा गया है। 

पीएम मोदी ने कहा कि आज हमारी सरकार असम की जरूरतों की पहचान करके, हर जरूरी प्रोजेक्ट्स पर तेज़ी से काम कर रही है. पीएम ने कहा कि बीते 6 सालों से असम सहित पूरे नॉर्थ ईस्ट की कनेक्टिविटी और दूसरे इंफ्रास्ट्रक्चर का अभूतपूर्व विस्तार भी हो रहा है, आधुनिक भी हो रहा है. पीएम ने कहा कि असम के हर क्षेत्र की हर जनजाति को साथ लेकर चलने की इसी नीति से आज असम शांति और प्रगति के मार्ग पर चल पड़ा है. 

पीएम मोदी ने कहा कि ऐतिहासिक बोडो समझौते से अब असम का एक बहुत बड़ा हिस्सा शांति और विकास के मार्ग पर लौट आया है. समझौते के बाद हाल में बोडोलैंड टेरिटोरियल काउंसिल के पहले चुनाव हुए, प्रतिनिधि चुने गए. मुझे विश्वास है कि अब बोडो टेरिटोरियल काउंसिल विकास और विश्वास के नए प्रतिमान स्थापित करेगी।




Get the latest update about PM Modi in Assam, check out more about TRUESCOOP HINDI, TRUESCOOP NEWS & NARENDRA MODI

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.