कोरोना वायरस में यूके वैरिएंट के बाद अब दक्षिणी अफ्रीकी और ब्राजील वैरिएंट का सामने आया खौफ, भारत के 4 लोगों में हुई स्ट्रेन की पुष्टि

जहां एक तरफ देश में कोरोना वैक्सीन लोगों को लगनी शुरू हो गई है वहीं कोरोना वायरस में यूके वैरिएंट के बाद अब दक्षिणी अफ्रीकी और ब्राजील वैरिएंट का खौफ सामने आया है। दरअसल, ICMR के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि फरवरी के पहले हफ्ते में SAS-CoV-2 के ब्राजील वैरिएंट पता चला है. वैक्सीन की प्रभावशीलता का आकलन करने के लिए प्रयोग चल रहे हैं. उ

जहां एक तरफ देश में कोरोना वैक्सीन लोगों को लगनी शुरू हो गई है वहीं कोरोना वायरस में यूके वैरिएंट के बाद अब दक्षिणी अफ्रीकी और ब्राजील वैरिएंट का खौफ सामने आया है। दरअसल,  ICMR के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि फरवरी के पहले हफ्ते में SAS-CoV-2 के ब्राजील वैरिएंट पता चला है. वैक्सीन की प्रभावशीलता का आकलन करने के लिए प्रयोग चल रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि दक्षिण अफ्रीकी और ब्राजीलियाई वैरिएंट, यूके के वैरिएंट से अलग हैं।

इंडियन सेंटर फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका से यहां लौटने वाले 4 लोगों में दक्षिण अफ्रीकन स्ट्रेन की पुष्टि हुई है. सभी यात्रियों और उनके संपर्क में आए लोगों की टेस्टिंग की गई है और उन्हें क्वारंटाइन किया गया है. इसके अलावा ब्राजीलियाई वैरिएंट से भी जुड़ा एक मामला दर्ज किया गया है।

बलराम भार्गव ने कहा कि यूके वैरिएंट के अब तक देश में 187 मामले हैं. यूके वैरिएंट से संक्रमित लोगों में से किसी की मृत्यु नहीं हुई है. सभी पॉजिटिव केस क्वारंटाइन किए जा चुके हैं और उनका इलाज चल रहा है. उनके संपर्क में आए लोगों को आइसोलेट किया गया है और टेस्ट भी कराया गया है. हमारे पास उपलब्ध वैक्सीन में वायरस के यूके वैरिएंट को भी निष्प्रभावी करने की क्षमता है. ICMR-NIV पुणे में वायरस स्ट्रेन को सफलतापूर्वक आइसोलेट किया गया है.

Get the latest update about truescoop, check out more about south africa, , corona variant & Corona vaccine

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.