वेब सीरीज़ 'मिर्जापुर' के राइटर्स, डायरेक्टर्स को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दी राहत, गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए यूपी सरकार को नोटिस जारी कर मांगा जवाब

विवादों में आई अमेज़न प्राईम की वेब सीरीज 'मिर्जापुर' के राइटर पुनीत कृष्णा (पहला सीजन), विनीत कृष्णा (दूसरा सीजन) और डायरेक्टर करण अंशुमान, गुरमीत सिंह को इलाहाबाद हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है।

विवादों में आई अमेज़न प्राईम की वेब सीरीज 'मिर्जापुर' के राइटर पुनीत कृष्णा (पहला सीजन), विनीत कृष्णा (दूसरा सीजन) और डायरेक्टर करण अंशुमान, गुरमीत सिंह को इलाहाबाद हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोर्ट ने उविवादनकी गिरफ्तारी पर अंतरिम रोक लगा दी है। जस्टिस प्रीतिंकर दिवाकर और जस्टिस दीपक वर्मा की बेंच ने उत्तर प्रदेश सरकार और शिकायतकर्ता को नोटिस जारी कर जवाब तलब भी किया है।

बतां दें कि 17 जनवरी को मिर्जापुर जनपद के चिलबिलिया के रहने वाले अरविंद चतुर्वेदी ने वेब सीरीज के खिलाफ शिकायत की थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि 'मिर्जापुर' उनकी धार्मिक, सामाजिक और क्षेत्रीय भावनाओं को आहत करती है। 

शिकायत के आधार पर करण अंशुमान, गुरमीत सिंह, पुनीत कृष्णा , विनीत कृष्णा के खिलाफ देहात कोतवाली थाने में 295-A,504,505,34,67A के तहत fir दर्ज की गई थी। थाना प्रभारी विजय कुमार चौरसिया के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम जांच के लिए मुंबई पहुंची थी।

वहीं इससे पहले FIR के खिलाफ 'मिर्जापुर' के मेकार्स ने इलाहाबाद हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। उन्होंने कहा था कि उनकी वेबसीरीज काल्पनिक है और हर एपिसोड के पहले डिस्क्लेमर में यह स्पष्ट किया गया है। उन्होंने कोर्ट से गुजारिश की थी कि उनके खिलाफ दर्ज FIR निरस्त कर मामले की आगे की कार्रवाई पर रोक लगाई जाए।


Get the latest update about amazon prime, check out more about Truescoop, karan anshuman, Mirzapur & vinit krishna

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.