मकर संक्रांति पर आज 200 साल बाद मकर राशि में 5 ग्रहों का दुर्लभ राजयोग, जानें अपनी राशियों पर कैसा रहेगा असर

क्या आप जानते मकर संक्रांति कब मनाई जाती है, बतां दें कि जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है जब मकर संक्रांति पर्व मनाया जा रहा है। लेकिन इस बार मकर राशि में सूर्य के साथ चंद्रमा, बुध, गुरु और शनि भी हैं। हौरानी वाली बात यह है कि इन पांच ग्रहों का योग पिछले 200 साल में नहीं बना।

क्या आप जानते मकर संक्रांति कब मनाई जाती है, बतां दें कि जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है जब मकर संक्रांति पर्व मनाया जा रहा है। लेकिन इस बार मकर राशि में सूर्य के साथ चंद्रमा, बुध, गुरु और शनि भी हैं। हौरानी वाली बात यह है कि  इन पांच ग्रहों का योग पिछले 200 साल में नहीं बना। साथ ही आज पांच राजयोग बन रहे हैं। इनमें सूर्य का उत्तरायण होना बहुत शुभ माना जा रहा है।

मकर संक्रांति पर मंगल, शनि, बृहस्पति और चंद्रमा से रुचक, शश, गजकेसरी, दान और पर्वत नाम के राजयोग बन रहे हैं। इनमें तीर्थ स्नान, पूजा और दान करने से बहुत पुण्य मिलता है। बतां दें कि सुबह 8:29 से शाम को सूर्यास्त तक पुण्यकाल रहेगा। मकर संक्रांति धार्मिक पर्व होने के साथ ही एक खगोलीय घटना भी है। जिससे धरती के उत्तरी गोलार्द्ध में सूर्य के आने से दिन बड़े और रातें छोटी होने लगती हैं।

बतां दें कि जब सूर्य धनु से मकर राशि में आता है तो उसकी किरणें मकर रेखा पर सीधे गिरती हैं। इसलिए भारतीय उप महाद्वीप में दिन बड़े और रातें छोटी होने लगती हैं। जिससे सूरज की किरणों से इन जगहों के लोगों में सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है और पेड़-पौधे भी जल्दी विकास करते हैं। ये ही वजह है कि इस मौसम में अनाज और धान उगता है।

ज्योतिष ग्रंथों में साल की दो ही संक्रांतियां सबसे खास होती है। 14 जनवरी को जब सूर्य मकर राशि में आता है, तब मकर संक्रांति होती है। इस दिन सूर्य उत्तरायण हो जाता है। जो कि करीब 6 महीने रहता है। इसके बाद जब सूर्य कर्क राशि में जाता है तो कर्क संक्रांति होती है। इस समय सूर्य दक्षिणायन होता है यानी दक्षिणी गोलार्द्ध की ओर बढ़ने लगता है। इसलिए इन दो ही संक्रांति को महत्वपूर्ण माना गया है। इनके अलावा हर महीने जब सूर्य राशि बदलता है तो उस राशि के नाम के मुताबिक मेष, वृष मिथुन संक्रांति होती है। इस तरह साल में 12 संक्रांति होती है

जानें 13 फरवरी तक 12 राशियों पर कैसा सा रहेगा प्रभाव-

-वृष: किस्मत का साथ मिलेगा। मेहनत बढ़ेगी और उसका पूरा फायदा भी मिलेगा।
-कर्क: रोजमर्रा के काम पूरे हो जाएंगे। पुरानी परेशानियां खत्म होने लगेंगी। नए काम शुरू होंगे।
-सिंह: दुश्मनों पर जीत मिलेगी। सेहत में सुधार होगा। दूर स्थान पर रहने वाले लोगों से मदद मिलेगी।
-वृश्चिक: दोस्तों और भाइयों से मदद मिलेगी। मेहनत और पराक्रम बढ़ेगा। कई मामलों में भाग्यशाली रहेंगे।
-मेष: नौकरी और बिजनेस में बड़े काम होंगे, लेकिन मेहनत और तनाव भी बढ़ सकता है।
-कन्या: नई योजनाओं पर काम शुरू होगा। फायदा मिलेगा, लेकिन संतान को लेकर चिंता बढ़ेगी।
-धनु: धन लाभ होने के योग बन रहे हैं, लेकिन खर्चा भी बना रहेगा। गुप्त बात उजागर हो सकती है।
-मीन: कामकाज का फायदा मिलेगा, लेकिन लव लाइफ में तनाव और विवाद बढ़ सकता है।
-मिथुन: गुप्त बातें उजागर हो सकती हैं। धन हानि के योग हैं। नौकरी और बिजनेस में नुकसान होने की आशंका है।
-तुला: माता की सेहत को लेकर चिंता रहेगी। नौकरी और बिजनेस में परेशानियां बढ़ सकती है। प्रॉपर्टी संबंधी विवाद होने के योग हैं।
-मकर: रोजमर्रा के कामों में रुकावटें आएंगी। मैरिड लाइफ में तनाव बढ़ सकता है। सेहत के मामलों में लापरवाही न करें।
-कुंभ: धन हानि हो सकती है। नौकरी और बिजनेस में विवाद और नुकसान के योग हैं। सेहत संबंधी बड़ी परेशानी की भी आशंका है।


Get the latest update about makar sankranti 2021, check out more about Truescoop Hindi, Dharam, truescoop news & rashi

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.