मशहूर मैगज़ीन TIME ने किसान आंदोलनकारी महिलाओं को कवर पेज पर दी जगह- लिखा-'हमें ना डरा सकते, ना ही खरीद सकते'

देश में पिछले कई महीनों से चल रहे कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन को लेकर पूरे देश में ही नहीं ब्लकि विदेशों में भी चर्चा है। मशहूर अमेरिकी न्यूज मैग्जीन TIME ने मार्च के अंतरराष्ट्रीय अंक के कवर पेज पर किसान आंदोलन में शामिल महिलाओं को जगह दी है.

देश में पिछले कई महीनों से चल रहे कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन को लेकर पूरे देश में ही नहीं ब्लकि विदेशों में भी चर्चा है। मशहूर अमेरिकी न्यूज मैग्जीन TIME ने मार्च के अंतरराष्ट्रीय अंक के कवर पेज पर किसान आंदोलन में शामिल महिलाओं को जगह दी है. पत्रिका ने ऑन द फ्रंटलाइन ऑफ इंडियाज फार्मर प्रोटेस्ट' शीर्षक से कवर स्टोरी छापी है. इसमें दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर विरोध-प्रदर्शन कर रही महिलाओं के एक समूह को चित्रित किया गया है. पत्रिका में बताया गया है कि महिला किसानों ने कैसे केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया.

टाइम पत्रिका ने अंदर खबर की शीर्षक दी है "हमें डराया नहीं जा सकता और ना ही खरीदा जा सकता.. भारत के किसानों के विरोध का नेतृत्व करने वाली महिलाएं.."  पत्रिका ने कवर पेज पर जिन किसान महिलाओं की तस्वीर छापी है उनमें उनके साथ छोटे बच्चों को भी दिखाया गया है, जो उनके साथ आंदोलन स्थल पर मौजूद थे. इसमें एक महिला अपने दुधमुंहे बच्चे को भी कंधे से लगाए दिख रही हैं. तस्वीर में एक बच्ची भी उन महिलाओं के साथ खड़ी होकर नारे लगाती दिख रही है।

टाइम मैगजीन ने ट्विटर पर लिखा है कि  ''टाइम का नया इंटरनेशनल कवर- मैं डराई नहीं जा सकती और न ही खरीदी जा सकती.'' मैगजीन ने कवर पेज पर तस्वीर में जिन महिलाओं को जगह दी है, उसमें 41 वर्षीय अमनदीप कौर, किरनजीत कौर, गुरमर कौर, जसवंत कौर, सुरजीत कौर, दिलबीर कौर, सरजीत कौर, बिन्दु अम्मां, उर्मिला देवी, साहुमति पाधा, हीराथ झाड़े, सुदेश गोयत शामिल हैं.

मैगजीन के कवर पेज पर फोटो छपी किरनजीत कौर ने टाइम से बातचीत मेंकहा कि सभी महिलाओं के लिए यहाँ आना और इस आंदोलन में अपनी उपस्थिति को चिह्नित करना महत्वपूर्ण है. मेरी दो बेटियां हैं, और मैं चाहती हूं कि वे उन मजबूत महिलाओं के बीच पले-बढ़ें जिन्हें वे यहां देखती हैं।

Get the latest update about Indian lady, check out more about TIME, true scoop, farm laws & farmer protest

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.