राकेश टिकैत ने कहा- आंसू बहने का असर आपने देख लिया, अब आंदोलन और मजबूत होगा

कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 66 दिनों से दिल्ली के विभिन्न बाॅर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों ने अब फिर से गाजीपुर बॉर्डर पर जुटना शुरू कर दिया है। धरना स्थल पर किसानों के साथ ही राजनीतिक दलों के नेता भी शुक्रवार से पहुंचना शुरू हो गए हैं।

कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 66 दिनों से दिल्ली के विभिन्न बाॅर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों ने अब फिर से गाजीपुर बॉर्डर पर जुटना शुरू कर दिया है।  धरना स्थल पर किसानों के साथ ही राजनीतिक दलों के नेता भी शुक्रवार से पहुंचना शुरू हो गए हैं। धरने में किसानों के लौटने और राजनीतिक दलों के नेताओं के पहुंचने पर भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने स्पष्ट रूप से अपनी राय रखी है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में भावुक होने के बाद आंदोलन के मजबूत होने के लेकर राकेश टिकैत ने कहा कि आंसू बहने का असर आपने देख लिया। उन्होंने कहा कि अब यह आंदोलन और मजबूत होगा।

बतां दें कि धरने में आम आदमी पार्टी के मनीष सिसोदिया, जयंत चौधरी व अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं के लगातार पहुंचने पर टिकैत ने कहा कि किसी को भी मंच पर कोई जगह नहीं दी जा रही है।  दिल्ली में 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड में हिंसा और फिर केस दर्ज होने के बाद गिरफ्तारी के सवाल पर राकेश टिकैत ने कहा कि यदि आंदोलन मैं चलाउंगा तो केस किसी और के खिलाफ दर्ज होगा। उन्होंने कहा कि जेल भी चलेगा और आंदोलन भी चलेगा।

कानून का भी पालन होगा। धरने के बीच में गिरफ्तारी के बाद आंदोलन के भविष्य को लेकर सवाल के बारे में टिकैत ने कहा कि यह आंदोलन मैं नहीं बल्कि किसान चला रहे हैं। यह आंदोलन चलता रहेगा।

Get the latest update about rakesh tikait, check out more about kisan andolan, truescoop hindi & truescoop news

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.