कंगना ने ट्विट कर बताया जब पिता ने उनपर हाथ उठाया तो कहा- मैं भी आपको थप्पड़ मरूंगी

अपनी बेबाकी ट्विट की वजह से अकसर सुर्खियों में रहने वाली कंगना रनौत ने इस बार अपनी नीजि जिंदगी को लोकर खुलासा किया। इस दौरना कंगना ने लगातार कई ट्वीट करते हुए बताया है कि कैसे वह शुरुआत से ही बागी रही हैं और फेमस होने के बाद उनकी आवाज और ज्यादा बुलंद हो गई है

अपनी बेबाकी ट्विट की वजह से अकसर सुर्खियों में रहने वाली कंगना रनौत ने इस बार अपनी नीजि जिंदगी को लोकर खुलासा किया। इस दौरना कंगना ने लगातार कई ट्वीट करते हुए बताया है कि कैसे वह शुरुआत से ही बागी रही हैं और फेमस होने के बाद उनकी आवाज और ज्यादा बुलंद हो गई है. कंगना ने हाल ही में इस बात को साबित करने के लिए एक वीडियो भी शेयर किया. उन्होंने कहा कि वह 15 साल की उम्र में ही बागी बन गई थीं. इसके साथ ही कंगना रनौत ने ये भी बताया कि कैसे उन्होंने अपने पिता से बगावत की थी और जब पिता ने उन्हें थप्पड़ मारना चाहा था तो बदले में उन्होंने भी थप्पड़ मारने की धमकी दी थी। 

कंगना ने ट्वीट किया कि मेरे पिता के पास लाइसेंस्ड राइफल और बंदूके हैं. मेरे बचपन में वह डांटते नहीं बल्कि दहाड़ते थे. उनकी आवाज से मेरी पसलियां तक कांपती थीं. अपनी जवानी में वो अपने कॉलेज में गैंग वॉर करवाने के लिए मशहूर थे, जिसकी वजह से उन्हें गुंडा माना जाता था. मैंने 15 साल की उम्र में उनसे लड़ाई की थी और घर छोड़ दिया था. ऐसे में, मैं 15 साल की उम्र में पहली बागी राजपूत महिला बन गई थी.

उन्होंने आगे ट्वीट किया कि इस चिल्लर इंडस्ट्री को लगता है कि सफलता मेरे सिर चढ़कर बोल रही है और ये लोग मुझे ठीक कर सकते हैं. मैं हमेशा से बागी थी, ये बस सफलता पाने के बाद मेरी आवाज और बुलंद हो गई है और आज मैं देश की सबसे महत्त्वपूर्ण आवाजों में से एक हूं. इतिहास गवाह है कि जिसने भी मुझे ठीक करने की कोशिश की है, मैंने उसे ठीक कर दिया है।

अपने पिता के बारे में बात करते हुए कंगना रनौत ने लिखा, ''मेरे पापा चाहते थे कि मैं दुनिया की बेस्ट डॉक्टर बनूं. उन्होंने सोचा कि हमें बेस्ट इंस्टिट्यूट में पढ़ाकर वो एक क्रांतिकारी पापा बन रहे हैं. जब मैंने स्कूल जाने से मना किया तो उन्होंने मुझे थप्पड़ मारने की कोशिश की, तब मैंने उनका हाथ पकड़ लिया था. मैंने उन्हें कहा- अगर आप मुझे थप्पड़ मारोगे तो मैं भी आपको थप्पड़ मरूंगी। 

उन्होंने आगे बताया कि वो हमारे रिश्ते का अंत था. उन्होंने मुझे देखा, फिर मेरी मां को देखा और फिर कमरे से चले गए. मुझे पता था कि मैंने अपनी सीमा पार कर दी है और मैंने उन्हें कभी दोबारा नहीं पाया. लेकिन मैं पिंजरे में नहीं रह सकती थी और आजादी पाने के लिए मैं कुछ भी कर सकती थी।

Get the latest update about truescoop, check out more about twitter, rajput woman, kangana ranaut father & kangana ranaut

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.