ज़िला प्रशासन ने भूमि अधिग्रहण करने पर मुआवज़ा देने के लिए सुधारे नये गुणा फैक्टर रेट लागू किए -डिप्टी कमिश्नर

डिप्टी कमिश्नर जालंधर घनश्याम थोरी ने ज़िले में पंजाब सरकार की तरफ से भूमि अधिग्रहण करने पर ग्रामीण आबादी को अधिक से अधिक मुआवज़ा देने के लिए ज़मीन अधिग्रहण करने वाली समर्थ अथारिटी को आदेश दिए है कि सुधार किये गए मल्टीपलीकेशन फैक्टर रेट को तुरंत ज़िले में लागू किया जाये।

जालंधर 13 जनवरी -डिप्टी कमिश्नर जालंधर घनश्याम थोरी ने ज़िले में पंजाब सरकार की तरफ से भूमि अधिग्रहण  करने पर ग्रामीण आबादी को अधिक से अधिक मुआवज़ा देने के लिए ज़मीन अधिग्रहण करने वाली समर्थ अथारिटी को आदेश दिए है कि सुधार किये गए मल्टीपलीकेशन फैक्टर रेट को तुरंत ज़िले में लागू किया जाये। 

इस बारे में ज्यादा जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि राज्य सरकार की तरफ से यह नए मल्टीपलीकेशन फैक्टर रेट 12 जनवरी 2021 को नोटिफिकेशन जारी करके राइट टू फेयर कम्पेनसेशन और ट्रांसपेरैंसी लैड् ऐकुजेशन एक्ट 2013 के अंतर्गत संशोधित किए गए है। 

उन्होनें बताया कि इन फैकटरों के अनुसार यदि सरकार किसी विकास प्रोजेक्ट के लिए ज़मीन अधिग्रहण करना चाहती है तो ग्रामीण जायदाद की मार्कीट कीमत कई गुणा अधिक आंकी जायेगी। इस से पहले केवल दो फैकटर जैसे कि फैक्टर 1 और 1.25 के अंतर्गत ग्रामीण जायदाद की मार्केट कीमत निर्धारित की जाती थी, जिसको राज्य सरकार की तरफ से शहरी क्षेत्र से ग्रामीण ज़मीन की दूरी के आधार पर 2 फैकटरों तक बढ़ाया गया है। 

उन्होनें कहा कि अब ज़मीन अधिग्रहण की जाने वाली योग्य संस्थाओं की तरफ से ज़मीन अधिग्रहण करते समय नये संशोधन किये गए फैकटरों को ध्यान में रख कर ज़मीन की बाज़ारी कीमत निर्धारित की जायेगी। उन्होनें कहा कि नोटिफिकेशन अनुसार शहरी क्षेत्र के 5 किलोमीटर के अंदर पड़ती ज़मीन की कीमत 1.0 के साथ गुणा की जायेगी। 
उन्होंने यह भी कहा कि शहरी क्षेत्र (नगर निगम, नगर कौंसिलों और नगर पंचायतों) के 5 किलोमीटर के दायरे में आने वाली ज़मीनों की कीमत 1.25 मलटीपलीकेशन फैक्टर के साथ गिनी जायेगी और यह 5 से 10 किलोमीटर के दायरे पर भी लागू होगी। इसी तरह 10 से 15 किलोमीटर दूर पड़तीं ज़मीन के लिए 1.5 फैक्टर  और 15 से 20 किलोमीटर की दूरी के लिए 1.75 फैक्टर के साथ ज़मीन की बाज़ारी कीमती निश्चित की जायेगी। इसी तरह शहरी क्षेत्र से 20 किलोमीटर से अधिक ज़मीन के लिए 2 के फैक्टर के द्वारा ज़मीन की बाज़ारी की दी जायेगी। 
ज़मीन अधिग्रहण करने वाली समर्थ अथारटी कम - एस.डी.एम. राहुल सिंधु और ज़िला माल अधिकारी -कम - सीएएलए जशनजीत सिंह ने कहा कि मलटीपलीकेशन फैक्टर फ़ार्मूला ज़मीन अधिग्रहण करने के समय ज़मीन की बाज़ारी कीमत निश्चित करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। उन्होनें कहा कि गुणा का फैक्टर जितना ज़्यादा होगा ज़मीन की कीमत उतनी अधिक होगी और आने वाले समय दौरान विकास कामों के लिए आधिकारियों की तरफ से ज़मीन का मूल्य निर्धारित इसी तरीके से किया जाना है। उन्होनें बताया कि हाल ही में जालंधर में तीन बड़े प्रोजैक्टों दिल्ली -कटरा ऐकसप्रैसवे, जालंधर रिंग रोड प्रोजैक्ट और बठिंडा ग्रीन फील्ड प्रोजैक्ट के लिए ज़मीन अधिग्रहण करके मुआवज़ा दिया जाना है। 

Get the latest update about punjab gvernment, check out more about ghanshyam thori, Truescoop hindi, truescoop news & jalandhar dc

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.