इजरायली दूतावास के पास हुए धमाके वाली जगह पर पहुंची NSG की टीम, फटी बैटरी बरामद

दिल्ली में कल शुक्रवार को इजरायली दूतावास के पास धमाके की जांच में पता चला है कि जिस बम का इस्तेमाल किया गया था, उसे एक प्रोफेशनल ने तैयार किया था। जांच एजेंसी के सूत्र बताते हैं कि बम तैयार करने वाले व्यक्ति को इसकी ट्रेनिंग दी गई थी। धमाके के लिए टाइमर का इस्तेमाल किया गया था।

दिल्ली में कल शुक्रवार को इजरायली दूतावास के पास धमाके की जांच में पता चला है कि जिस बम का इस्तेमाल किया गया था, उसे एक प्रोफेशनल ने तैयार किया था। जांच एजेंसी के सूत्र बताते हैं कि बम तैयार करने वाले व्यक्ति को इसकी ट्रेनिंग दी गई थी। धमाके के लिए टाइमर का इस्तेमाल किया गया था।

जांचकर्ताओं ने ड्राई सेल के टुकड़े घटनास्थल से इकट्ठे किए हैं. माना जा रहा है कि इससे जांच और भी मुश्किल हो जाएगी. आशंका ये है कि धमाके के लिए इस्तेमाल विस्फोटक सेना में इस्तेमाल होने वाला विस्फोटक (मिलिट्री ग्रेड एक्सप्लोसिव))  है. हालांकि इस बारे में फॉरेंसिक रिपोर्ट अभी भी नहीं आई है। अगर ब्लास्ट में मिलिट्री ग्रेड विस्फोटक के हो जाने की पुष्टि हो जाती है तो इससे ये निष्कर्ष निकलेगा कि ये काम किसी एजेंसी या प्रोफेशनल संस्था द्वारा अंजाम दिया गया है।

बतां दें कि इजरायली दूतावास के पास हुए धमाके की जांच के लिए एनएसजी की एक टीम को लगाया गया है. ये टीम विस्फोटक का विश्लेषण करेगी। वहीं, दिल्ली पुलिस ने इजरायली दूतावास के बाद हुए धमाके में बैटरी के अंश बरामद किए हैं. इससे स्पष्ट हो रहा है कि धमाके में टाइमर का इस्तेमाल किया गया था।

पुलिस ने आज सुबह बैटरी के अंश घटनास्थल से बरामद किए हैं.  इससे ये थ्योरी खारिज हो जाती है कि चलती कार या बाइक पर सवार शख्स ने IED को फेंका और फरार हो गया. सूत्रों के अनुसार धमाके के लिए उच्च गुणवत्ता के प्रोडक्ट इस्तेमाल किए गए. आशंका जताई जा रही है कि PETN का इस्तेमाल किया जा रहा है।

 

Get the latest update about Truescoop hindi, check out more about truescoop news, ied blast Israel embassy, NSG & israel embassy

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.