कृषि बिल को लेकर किसानों का आज देशभर में रेल रोको प्रदर्शन जारी- जानिए पंजाब से लेकर राजस्थान पर क्या रहा असर

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का आज कई राज्यों में रेल रोको आंदोलन जारी है। दोपहर 12 बजे से शुरू हुआ यह सिलसिला शाम 4 बजे तक चलेगा। इस प्रदर्शन का हरियाणा-पंजाब में ज्यादा असर दिख रहा है।

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का आज कई राज्यों में रेल रोको आंदोलन जारी है।  दोपहर 12 बजे से शुरू हुआ यह सिलसिला शाम 4 बजे तक चलेगा। इस प्रदर्शन का हरियाणा-पंजाब में ज्यादा असर दिख रहा है। दोनों राज्यों के कई बड़े शहरों में प्रदर्शनकारी ट्रैक पर बैठ हैं। इधर, राजस्थान में जयपुर और आस-पास के इलाकों में भी ट्रेनें रोकी जा रही हैं। जयपुर में जगतपुरा रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शन का ज्यादा असर देखा जा रहा है।

किसानों के मुताबिक, वे शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना चाहते हैं। साथ ही जनता तक अपनी बात भी पहुंचाना चाहते हैं। किसी को परेशान करना उनका मकसद नहीं है। इसलिए ट्रेन में सफर कर रहे बच्चों के लिए दूध-पानी के इंतजाम किए गए हैं।

जानिए पूरे देश में रेल रोको का क्या पड़ा असर-

-पंजाब में  15 जिलों में 21 स्थानों पर किसान ट्रेनें रोकेंगे। पटियाला जिले में नाभा, संगरूर में सुनाम, मानसा, बरनाला, बठिंडा में रामपुरा, मंडी, संगत और गोनियाना, फरीदकोट में कोटकपूरा, मुक्तसर में गिद्दड़बाहा, फाजिल्का में अबोहर और जलालाबाद, मोगा में अजीतवाल, जालंधर में तरनतारन, अमृतसर में फतेहगढ़ में ट्रेनें रोकी जाएंगी।

-राजस्थान के जयपुर के गांधीनगर रेल्वे स्टेशन पर प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोक दी। जगतपुरा स्टेशन पर भी प्रदर्शन हो रहा है। जयपुर जिले के चौमूं रेलवे स्टेशन पर आंदोलकारी पटरियों पर बैठे हैं। अलवर में भी ट्रेनें रोकी गई हैं। प्रदेश के 6 जिलों में अब तक रेल रोको प्रदर्शन का असर देखा गया है।

-हरियाणा के पानीपत में  किसान ट्रैक पर बैठे हैं। करीब 12.45 बजे पहुंची बांद्रा-अमृतसर पश्चिम एक्सप्रेस को प्रदर्शनकारियों ने रोक दिया। अब यह ट्रेन 4 बजे के बाद ही TDI सिटी रेलवे फाटक से आगे जा पाएगी। इससे पहले बठिंडा एक्सप्रेस डेढ़ घंटे लेट आई थी पैसेंजर्स को लेने के लिए सिर्फ 2 मिनट रुकी थी। हरियाणा में करीब 80 जगहों पर प्रदर्शनकारी रेल रोंकेगे।

​​​​​​-बिहार में बी किसानों के इस प्रदर्शन में राजनीतिक दल भी शामिल हैं। पटना में जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के कार्यकर्ताओं ने तय समय (दोपहर 12 बजे) से आधे घंटे पहले ही रेल रोकना शुरू कर दिया। कुछ कार्यकर्ता पटरी पर लेट गए, पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

वहीं, किसानों के रेल रोकने के ऐलान को देखते हुए देशभर में रेलवे प्रोटेक्शन स्पेशल फोर्स (RPSF) की 20 एक्स्ट्रा कंपनियां यानी करीब 20 हजार अतिरिक्त जवान तैनात किए हैं। इनमें से ज्यादातर को पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में तैनात किया गया है। रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के DG अरुण कुमार ने प्रदर्शनकारियों से अपील की है कि वे शांतिपूर्ण प्रदर्शन करें और ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों को परेशानी नहीं हो।


Get the latest update about farm laws, check out more about rakesh tikait, Truescoop, rail roko andolan & farmer protest

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.