सामने आया किसान की मौत का लाइव वीडियों, देख कर उड़ जाएंगे होश

एक तरफ कड़ाके की ठंड ऊपर से तेज बारिश ने किसान आंदोलन की तपस्या को और कठिन कर दिया है। इसके बावजूद किसान दिल्ली के अलग-अलग बॉर्डर पर डटे हुए हैं। नए कृषि कानूनों के खिलाफ धरने पर बैठे किसान संगठन कानून को वापस लिए जाने तक किसी भी कीमत पर पीछे हटने को तैयार नहीं हैं।

एक तरफ कड़ाके की ठंड ऊपर से तेज बारिश ने किसान आंदोलन की तपस्या को और कठिन कर दिया है। इसके बावजूद किसान दिल्ली के अलग-अलग बॉर्डर पर डटे हुए हैं। नए कृषि कानूनों के खिलाफ धरने पर बैठे किसान संगठन कानून को वापस लिए जाने तक किसी भी कीमत पर पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। सरकार और किसान संगठनों के बीच कई दौर की बातचीत भी हो चुकी है जिसमें कोई ठोस नतीजा नहीं निकल पाया। इस बीच टिकरी बॉर्डर पर एक और आंदोलनकारी किसान ने आज दम तोड़ दिया। 58 साल के इस किसान की दिल का दौरा पड़ने से मौत हुई है।

मृतक किसान जुगबीर हरियाणा के जींद के रहने वाले थे और वह एक दिन पहले ही आंदोलन का हिस्सा बने थे। जानकारी के मुताबिक, घर से निकलते वक्त उन्होंने कहा था कि बॉर्डर जा रहा हूं। आज सुबह टिकरी बॉर्डर पर दिल का दौरा पड़ने की वजह से उनकी मौत हो गई। उनकी उम्र 58 साल बताई जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, अबतक 40 से ज्यादा किसानों की अलग-अलग बॉर्डर पर मौत हो चुकी है। मृतक किसानों में ज्यादातर बुजुर्ग किसान शामिल हैं। इन मौतों की वजह से किसान संगठनों में सरकार के प्रति गुस्सा लगातार बढ़ रहा है। उनका कहना है कि सरकार पूरी तरह से संवेदनहीन हो चुकी है।

वहीं, सरकार और किसान संगठनों के बीच अबतक 7 दौर की बातचीत हो चुकी है। 7वें दौर की बातचीत के बाद दोनों पक्षों में दो मुद्दों पर सहमति बन गई है, लेकिन कानूनों को वापस लेने की मांग पर किसान संगठन अड़े हुए हैं। 

Get the latest update about punjab farmer, check out more about Truescoop news, farmer death, truescoopHindi & farmer meeting

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.