लाल किले पर हुई हिंसा को मद्देनज़र रखते हुए किसान नेताओं के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी

26 जनवरी गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा पर दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को किसान नेताओं के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किए। यानी वे बिना इजाजत विदेश नहीं जा सकेंगे, उनके पासपोर्ट जब्त किए जाएंगे।

26 जनवरी गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा पर दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को किसान नेताओं के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किए। यानी वे बिना इजाजत विदेश नहीं जा सकेंगे, उनके पासपोर्ट जब्त किए जाएंगे। हालांकि, यह पुष्टि नहीं हो पाई है कि लुकआउट नोटिस किन-किन नेताओं के खिलाफ जारी हुए हैं। लेकिन, सूत्रों का कहना है कि जिन 37 नेताओं के खिलाफ पुलिस ने बुधवार को FIR दर्ज की थी, उनमें से 20 के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किए गए हैं।

उधर, किसान नेता युद्धवीर सिंह ने हिंसा की घटनाओं पर माफी मांगते हुए कहा कि 'गणतंत्र दिवस के दिन जो हुआ वो शर्मनाक है। मैं गाजीपुर बॉर्डर के पास था। जो उपद्रवी वहां घुसे उनमें हमारे लोग शामिल नहीं थे। फिर भी मैं शर्मिंदा हूं और 30 जनवरी को उपवास रखकर हम प्रायश्चित करेंगे।'

इसके साथ ही दिल्ली पुलिस ने बुधवार देर रात 20 किसान नेताओं को नोटिस जारी कर पूछा कि क्यों न आपके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए, 3 दिन में इसका जवाब दें। जिन नेताओं को नोटिस दिए गए हैं उनमें से 4 के नाम अभी तक सामने आए हैं। ये नेता हैं योगेंद्र यादव, दर्शन पाल, बलदेव सिंह सिरसा और बलबीर सिंह राजेवाल। पुलिस ने जो नोटिस भेजा है उसमें यह भी कहा है कि गणतंत्र दिवस पर लाल किले में तोड़फोड़ करना एक देश विरोधी हरकत है।

Get the latest update about farmer leader, check out more about truescoop news, truescoop hindi, lookout notice & delhi police

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.