ट्रैक्टर परेड- किसान आंदोलन से आई बड़ी खबर, दो बड़े संगठनों ने खत्म किया धरना प्रदर्शन

कल 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर किसानों द्वारा निकाली गई ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद अब किसान नेता वीएम सिंह ने ऐलान किया है कि उनका संगठन किसानों के आंदोलन से अलग हो रहा है. वीएम सिंह के संगठन का नाम राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन है.

कल 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर किसानों द्वारा निकाली गई ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद अब  किसान नेता वीएम सिंह ने ऐलान किया है कि उनका संगठन किसानों के आंदोलन से अलग हो रहा है. वीएम सिंह के संगठन का नाम राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन है. ये संगठन अब आंदोलन का हिस्सा नहीं होगा. वीएम सिंह ने कहा कि इस रूप से आंदोलन नहीं चलेगा. हम यहां पर शहीद कराने या लोगों को पिटवाने नहीं आए हैं. 

उन्होंने भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत पर आरोप लगाए हैं. वीएम सिंह ने कहा कि राकेश टिकैत सरकार के साथ मीटिंग में गए. उन्होंने यूपी के गन्ना किसानों की बात एक बार भी उठाई क्या. उन्होंने धान की बात की क्या. उन्होंने किस चीज की बात की. हम केवल यहां से समर्थन देते रहें और वहां पर कोई नेता बनता रहे, ये हमारा काम नहीं है.वीएम सिंह ने कहा कि हिंसा से हमारा कोई लेना-देना नहीं है. 

किसान मजदूर संगठन के अध्यक्ष वीएम. सिंह ने कहा कि हिन्दुस्तान का झंडा, गरिमा, मर्यादा सबकी है. उस मर्यादा को अगर भंग किया है, भंग करने वाले गलत हैं और जिन्होंने भंग करने दिया वो भी गलत हैं. ITO में एक साथी शहीद भी हो गया. जो लेकर गया या जिसने उकसाया उसके खिलाफ पूरी कार्रवाई होनी चाहिए.


Get the latest update about farmer protest, check out more about farm laws, truescoop hindi, delhi police & truescoop news

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.