कांस्टेबल ने पहले जबरन महिला को घर से उठाया फिर थाने में लेजाकर किया रेप, रातभर रखा निर्वस्त्र

अगर कानून का रखवाला ही हमारे इज्जत को तार तार कर दें तो इस देश में इंसाफ की गुहार कहा लगाई जाएं। दरअसल, लुधियाना के एक थाने में महिला के साथ दुष्कर्म किया गया। लुधियाना की चौकी मुंडिया में बिना किसी अपराध चौकी लाई गई महिला (25) के साथ कांस्टेबल ने गंदगी की सारी हदें पार कर दीं


अगर कानून का रखवाला ही हमारे इज्जत को तार तार कर दें तो इस देश में इंसाफ की गुहार कहा लगाई जाएं। दरअसल, लुधियाना के एक थाने में महिला के साथ दुष्कर्म किया गया। लुधियाना की चौकी मुंडिया में बिना किसी अपराध चौकी लाई गई महिला (25) के साथ कांस्टेबल ने गंदगी की सारी हदें पार कर दीं। महिला को जबरन घर से उठाया और चौकी लाकर उससे रेप कर डाला। पीड़ित ने इसकी शिकायत पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल को दी, 18 दिन की जांच के बाद सोमवार को कांस्टेबल राकेश कुमार पर पुलिस कस्टडी में दुष्कर्म करने का केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि साथ गए चौकी इंचार्ज एएसआई सुखविंदर सिंह को भी सस्पेंड करने के साथ पूरी चौकी को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इसके अलावा 3 महिलाओं समेत 4 के खिलाफ भी मारपीट का केस दर्ज किया गया है। मामले की जांच कर रहीं एडीसीपी रूपिंदर कौर सरां ने पीड़िता के बयान नोट कर मेडिकल के लिए भेज दिया। मेडिकल के बाद पड़ताल की गई। फिलहाल चौकी में रात को तैनात मुलाजिमों के भी बयान लिए जा रहे हैं।

पीड़िता ने बताया वह पति के साथ किराये के मकान में रहती है, जहां पति का दोस्त करमा भी आता था। लेकिन करमा की सास पम्मी, साली पूजा, साला बिंदा और पम्मी की सहेली ममता को शक था कि उसके करमा से अवैध संबंध हैं। 3 दिसंबर को उसके पति की गैरहाजिरी में रात करीब 9 बजे आरोपियों ने मुझे घर से निकालकर पीटा इसके साथ ही नग्न कर वीडियो भी बनाया। 

लेकिन शोर सुनकर लोग इकट्ठा हुए तो आरोपी फरार हो गए। 4 दिसंबर को पीड़िता ने चौकी मुंडिया में शिकायत दी पर पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। 5 दिसंबर को आरोपियों ने उसे दोबारा पीटकर चौंकी में उसके खिलाफ झूठी शिकायत दे दी। 6 दिसंबर की रात साढ़े 12 बजे कांस्टेबल राकेश कुमार, चौकी इंचार्ज सुखविंदर सिंह ने उसे पीटा व बिना लेडी कांस्टेबल उसे चौकी ले गए। पीड़िता ने आरोप लगाया रात करीब डेढ़ बजे कांस्टेबल राकेश ने अलग कमरे में रेप किया। सुबह 4 बजे तक उसे निर्वस्त्र रखा गया। सुबह उसे कपड़े दिए गए। बाकी के मुलाजिम मूकदर्शक बने देखते रहे।

वहीं इसके बाद पीड़िता की ओर से 17 दिसंबर को सीपी को शिकायत के बाद जांच शुरू हुई। 18 दिन बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज की। वहीं, इस केस की जांच महिला एडीसीपी रुपिंदर कौर सरां कर रही हैं। वो अपनी रिपोर्ट देंगी, उसके बाद सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Get the latest update about ludhiana, check out more about constable raped woman, Ludhiana police station, Truescoop news & Truescoop hindi

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.