जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक -2021 लोकसभा से पास

लोकसभा में आज शनिवार को गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक, 2021 पर चर्चा का जवाब देते अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फायदे गिनाए। वहीं आज संसद में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक -2021 लोकसभा में पारित हो गया है।

लोकसभा में  आज शनिवार को गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक, 2021 पर चर्चा का जवाब देते अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फायदे गिनाए।   वहीं आज संसद में   जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक -2021 लोकसभा में पारित हो गया है। इसके साथ ही गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में कहा कि जिन्होंने अनुच्छेद 370 वापस लाने के आधार पर चुनाव लड़ा था वो साफ हो गए. कोई भी, यहां तक कि हमारे विरोधी भी यह नहीं कह सकते कि पंचायत चुनावों में किसी भी तरह का घपला हुआ है या फिर डीडीसी चुनावों के दौरान कोई भी हंगामा हुआ है. सबसे निडर होकर वोट दिया. जम्मू कश्मीर पंचायत चुनावों में 51 प्रतिशत वोटिंग हुई। 

गृहमंत्री ने कहा कि हमने अनुच्छेद 370 हटाकर सबसे पहले सबसे वहां पंचायती राज व्यवस्था की स्थापना की। डॉ. बीआर आंबेडकर ने कहा था कि अब राजा रानी की पेट से पैदा नहीं होंगे, दलित, गरीब और पिछड़ों के वोट से पैदा होंगे, लेकिन कश्मीर में राजा रानी के पेट से ही पैदा होते थे, तीन परिवारों का ही शासन रहा, इसलिए उन्हें धारा 370 चाहिए। लेकिन अब वहां भी राजा वोट से ही पैदा होंगे। गृहमंत्री ने कहा कि जब राजा रानी की पेट से पैदा होता है तो जनता की सेवा नहीं करता, जब वोट से बनता है तब जनता की सेवा करता है।

गृहमंत्री ने कहा कि आज पूछा जा रहा है कि अनुच्छेद 370 हटाने के वक्त जो वादे किए गए थे उनका क्या हुआ, 17 महीने हो गए, आप हमसे हिसाब मांग रहे हो, 70 साल आपने क्या किया उसका हिसाब लाए हो? 70 साल ठीक से चलाया होता तो हमसे हिसाब नहीं मांगना पड़ता। 370 को हटाने का यह मसला कोर्ट में है, कोर्ट ने इस कानून पर स्टे नहीं लगाया है, विचाराधीन रखा है, कोर्ट पूछेगी तो हम जवाब देंगे।

Get the latest update about congress, check out more about Truescoop, 370 artical, amit shah & jammu kashmir

Like us on Facebook or follow us on Twitter for more updates.